स्मृति का राहुल पर तंज: एक असफल वंश ने आज अपनी असफल राजनैतिक यात्रा के बारे में अमेरिका में बताया

0
47

नयी दिल्ली :- कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जोरदार हमला किया है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी अब अंतरराष्ट्रीय मंच पर देश का हाल बयां कर रहे हैं लेकिन वह भूल गये कि वोटर तो भारतीय ही हैं.  इस बात का उल्लेख करना कि कांग्रेस घमंडी हो गयी और कांग्रेस चुनाव हार गयी ऐसा कहकर राहुल ने खुद सोनिया गांधी पर ही सवाल उठाये हैं.

स्मृति ईरानी ने कहा कि राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज करना आशचर्यजनक नहीं है. एक असफल वंश ने आज अपनी असफल राजनैतिक यात्रा के बारे में अमेरिका में बताया. उन्होंने कहा कि वंशवाद पर राहुल गांधी ने जो कुछ कहा है वह देश के लोगों का अपमान है. राहुल गांधी ने जो कांग्रेस पार्टी में अहंकार के बारे में संकेत दिया है, उनकी पार्टी के लिए चिंता की बात है. उनकी सफलता और विपलता का मापदंड अमेठी आकर देना चाहिए.

स्मृति ईरानी ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति उपराष्ट्रपति सभी एक सामान्य परिवार से आते हैं

आपको बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेरिका के बर्कले में प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में  मंगलवार को कई बातें कहीं. उन्होंने कहा कि राइट विंग नेता कह रहे हैं कि एक जगह जाओ. मेरे नाना भी यहां आ चुके हैं और भाषण दे चुके हैं, आपने मुझे भी बुलाया उसके लिए धन्यवाद. राहुल ने कहा कि भारत एक बड़ा देश है, अगर कोई कहता है कि वह भारत को समझता है तो नासमझ है. भारत में कई राज्य हैं, कई प्राकृतिक संसाधन है. जो लोग सोच रहे थे कि भारत आगे नहीं बढ़ सकता है वो सभी गलत साबित हुए

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि एक व्यक्ति के खिलाफ हिंसा का इस्तेमाल करना और आक्रामक रुख से आगे बढ़ना कतई लाभदायक नहीं होता है. भारत में अहिंसा के विचार को हमेशा आगे रखा जाता है. जब राजीव गांधी ने कंप्यूटर के बारे में बात की थी, तो उसका विरोध किया गया था. भाजपा के नेता जो बाद में भारत के पीएम बने थे, उन्होंने भी कंप्यूटर का विरोध किया था. भारत ने सबसे ज्यादा गरीब लोगों को गरीबी रेखा से बाहर निकाला और यह सब शांतिपूर्ण तरीके से किया गया
उन्होंने कहा कि भारत में अभी जॉब क्रिएट करने की कमी है, भारत को जॉब क्रिएट करने की ओर अग्रसर होना होगा लेकिन हम चीन की नीति पर चलकर जॉब  क्रिएट नहीं कर सकते हैं, हमें लोकतांत्रिक तरीके से ही यह काम करना होगा. भारत में छोटे-कारोबार में ही जॉब हैं. राहुल गांधी ने नोटबंदी को लेकर कहा कि इससे देश की अर्थव्यवस्था को चोट पहुंचायी और हमारी GDP 2% तक गिर गयी. नोटबंदी करते समय संसद को अंधेरे में रखा गया.
राहुल गांधी ने कहा कि जिन लोगों ने मेरी दादी को गोली मारी, मैं उन लोगों के साथ बैडमिंटन खेला करता था. मुझे पता है कि हिंसा से क्या नुकसान हो सकता है. किसी भी व्यक्ति के खिलाफ हिंसा होना सही नहीं है. उन्होंने कहा कि जब आप अपने लोगों को खोते हो, तो आपको गहरी चोट लगती है.
उन्होंने कहा कि कोई भी पार्टी जो भारत में 10 साल तक सत्ता में है वो अभी बुरे दौर से गुजर रही है, भारत में कोई लंबे समय तक सत्ता पर काबिज नहीं रह सकता है. कांग्रेस, भाजपा और संघ की तरह नहीं है, मेरा काम लोगों का सुनना है उसके बाद फैसला लेने का है. मैं किसी और की तरह खड़ा होकर नहीं बोलता…. मैं ये कर दूंगा… वो कर दूंगा. भाजपा ने लोगों से बात करना बंद कर दिया है. नरेगा, जीएसटी हमारा प्रोग्राम है, और अब वो उस पर ही काम कर रहा है. राहुल गांधी ने कहा कि अभी हम सीनियर और जूनियर के बीच में एक पुल बना रहे हैं, हम अपने सीनियर लोगों को एक दम साइड नहीं कर सकते. इसलिए इस ओर धीरे-धीरे काम कर रहे हैं. 2012 में हमसे गलतियां हुईं, हमनें लोगों से दूरी बना ली.

NO COMMENTS