बिहार : पंडारक दियरा में STF और रामजनम गिरोह में मुठभेड़, भारी मात्रा में हथियार बरामद

0
125

पटना :- बिहार में एसटीएफ की टीम और अपराधियों के बीत शनिवार को भीषण मुठभेड़ होने की खबर है. जानकारी के मुताबिक पटना जिले के पंडारक दियरा में एसटीएफ और रामजनम यादव गिरोह के बीच जमकर गोलीबारी हुई. इस दौरान आधिकारिक जानकारी की मानें, 68 राउंड फायरिंग हुई, जबकि पुलिस सूत्रों की मानें, तो तीन सौ राउंड फायरिंग हुई है. बताया जा रहा है कि पुलिस से मुठभेड़ में अपराधियों ने आखिर में हार मानते हुए हथियार को गंगा नदीं में फेंक दिया. एसटीएफ के जवान हथियारों की बरामदगी में लगे हुए हैं. पुलिस टीम के मुताबिक आज सुबह में एसटीएफ को जानकारी मिली की अपराधियों की एक टीम किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में है. सूचना के बाद एसटीएफ ने एक विशेष टीम का गठन किया और अपराधियों के गढ़ में प्रवेश कर गयी.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस ने भारी मात्रा में हथियार को अपने कब्जे में लिया है. टीम ने अपना सर्च ऑपरेशन अभी भी जारी रखा है. अब तक तीन थ्री फिफ्टीन रायफल और कारतूस बरामद किया गया है. खबरों के मुताबिक एक मिनी गन फैक्टरी का भी उदभेदन हुआ है जिसमें से अर्द्ध निर्मित हथियार बरामद हुआ है. मिली जानकारी के अनुसार बिहार पुलिस के आई जी अभियान कुंदन कृष्णन को रामजनम यादव गिरोह के दियारा इलाका में छुपे होने की सूचना मिली थी. पंडारक के माला घाट दियारा में एसटीएफ जवानों ने कुख्यात रामजनम गिरोह की घेराबंदी शुरू की. पटना जिला के पंडारक और बेगूसराय जिला के तेघरा इलाके से घेराबंदी शुरू की गयी थी. एसटीएफ को आता देख अपराधियों द्वारा फायरिंग शुरू कर दी गयी. अपराधियों की फायरिंग के जवाब में एसटीएफ जवानों ने भी मोर्चा संभाला. अपराधियों द्वारा जबरदस्त फायरिंग की गयी. एसटीएफ जवानों ने भी 68 राउंड फायरिंग कर मुंहतोड़ जवाब दिया है. एसटीएफ की टीम पटना और बेगूसराय जिला के सहयोग से सर्च आपरेशन चला रही है. एसटीएफ ने तीन राइफल, देशी पिस्टल और दर्जनों गोलियां बरामद किया है. दियरा इलाके की भौगोलिक स्थिति का फायदा उठाकर अपराधी निकल भागे.

एसटीएफ एसपी ने बताया कि राम जनम यादव गिरोह के 10 अपराधियों के एक जगह होने की सूचना पर एसटीएफ की टीम को छापेमारी के लिये भेजा गया था. मुठभेड़ में कुछ अपराधियों के घायल होने की भी खबर आ रही है. रामजनम यादव और उसके गुर्गे इस इलाके में आतंक का प्रयाय बन चुका है. बाढ़ एनटीपीसी के निर्माण में जुड़े ठेकेदारों से रंगदारी वसूलना और नहीं देने पर फायरिंग कर दहशत फैलाना इस गैंग का मुख्य पेशा है.

NO COMMENTS