चोटिल होने के बाद वापसी करना दिखने में जितना आसान होता है करने में उतना ही मुश्किल : रोहित शर्मा

0
98

नयी दिल्ली :- भारतीय क्रिकेट टीम के ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा का कहना है कि चोटिल होना फिर छह महीने ग्राउंड से बाहर रहकर वापसी करना, कहने में तो आसान टॉस्क है, लेकिन करने में बहुत मुश्किल है. गौरतलब है कि हैमस्ट्रिंग इंज्यूरी के कारण रोहित शर्मा पिछले अक्तूबर महीने से अप्रैल 2017 तक टीम से बाहर रहे थे.

लेकिन जब उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफी के दारौन वापसी की तो उन्होंने तीन शतक और एक अर्द्धशतक बनाया. उन्होंने कहा कि एक मेजर सर्जरी के बाद वापसी करना आसान नहीं है. उन्होंने कहा कि अंदर जो डर का भूत है उसे हराना आसान नहीं है. उन्होंने कहा कि लोगों को देखने में लगता होगा कि मेरा खेलना बहुत आसान है, लेकिन सच मानिए यह इतना आसान नहीं है. रोहित शर्मा ने उक्त बातें एक साक्षात्कार में कहा है. 

उन्होंने कहा कि कई तरह का डर मन होता है, जैसे कि अगर मैं रन के लिए दौड़ा तो स्ट्रेच आ सकता है यामैं स्पिनर के ट्रैक पर आकर घायल हो सकता हूं. रोहित ने हंसते हुए कहा कि एक ही बात मेरे साथ अच्छी हुई कि मेरी वापसी के तुरंत बाद आईपीएल शुरू हुआ. मुंबई इंडियंस की कप्तानी करते हुए मैंने जब फील्ड में निर्णय किये तो एकबार भी यह नहीं सोचा कि अगर मैं चोटिल हुआ तो क्या होगा?
30 वर्षीय खिलाड़ी रोहित ने कहा कि जब मैं भारत के लिए खेलता हूं, तो मेरा दिमाग खाली होता है, वहां नकारात्मकता के लिए कोई स्थान नहीं होता. मैं बस देश के लिए खेलना और रन जोड़ना चाहता हूं. रोहित ने एकदिवसीय क्रिकेट में  5737 रन बनाये हैं, जिसमें 13 शतक शामिल हैं.

NO COMMENTS